Home Top Stories कानपुर में तीसरी रिपोर्ट आने से पहले मदरसा छात्र को किया डिस्चार्ज;...

कानपुर में तीसरी रिपोर्ट आने से पहले मदरसा छात्र को किया डिस्चार्ज; आगरा में संक्रमित चार युवकों को कपड़े लाने के लिए घर भेज दिया

[ad_1]

  • उत्तर प्रदेश में कोरोना से बचाव में चूक के आ रहे लगातार मामले
  • हाल ही में मुरादाबाद जिले में निगेटिव की जगह दो संक्रमितों को घर भेजा गया था
  • अब कानपुर में मदरसा छात्र व आगरा में चार युवकों को घर भेजा गया, रिपोर्ट आई तो वे संक्रमित मिले

दैनिक भास्कर

Apr 29, 2020, 02:39 PM IST

कानपुर/आगरा. उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर में लगातार दो रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद एक मदरसा छात्र को डिस्चार्ज कर दिया गया। जबकि, तीसरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके बाद हड़कंप मच गया। आनन-फानन में सीएमओ की टीम मदरसा पहुंची और छात्रा को फिर से अस्पताल लाया गया। इसी तरह आगरा जिले में एसजीआई संस्थान में क्वारैंटाइन किए गए खटीक पाड़ा के चार युवकों को मंगलवार की रात छोड़ दिया। बुधवार को इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। ये दो मामले स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही की बानगी हैं। इससे पहले मुरादाबाद में निगेटिव की जगह दो कोरोना संक्रमितों को घर भेज दिया गया था। 

आगरा डीएम बोले- कपड़े लाने के लिए भेजा गया घर
थाना हरिपर्वत क्षेत्र के खटीकपाड़ा क्षेत्र के रहने वाले चार युवकों को एसजीआई संस्थान में क्वारैंटाइन किया गया था। लेकिन मंगलवार रात चारों को सेंटर से मुक्त कर दिया गया। सभी अपने परिवार में पहुंचे। इसी बीच बुधवार को इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई तो स्वास्थ्य विभाग ने चारों को दूसरे सेंटर भेज दिया है। डीएम प्रभु नारायण सिंह ने कहा- चारों युवकों की कोविड-19 रिपोर्ट इनडिटरमिनेट (दुविधा) थी। लिहाजा उन्हें घर कपड़े लेने के लिए जाने दिया था। सभी हमारे संपर्क में थे। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद चारों युवकों को दूसरे कोविड सेंटर भेज दिया गया है। बता दें, बुधवार को आगरा में 21 नए केस सामने आए। यहां संक्रमितों की संख्या 425 पहुंच चुकी है। 

कानपुर में 20 मरीजों को तीसरी रिपोर्ट आने से पहले डिस्चार्ज किया
वहीं, कानपुर में सरसौल ब्लॉक सीएचसी में हाईरिस्क कोविड-19 अस्पताल बनाया गया है। सीएचसी में 21 संक्रमित एडमिट थे। दो दिन पूर्व 27 अप्रैल को सीएमओ अशोक शुक्ला और सीएचसी अधीक्षक डॉ. सीएल वर्मा समेत पैरामेडिकल स्टॉफ की मौजूदगी में 20 संक्रमितों को तालियां बजाकर डिस्चार्ज किया गया था। जिसमें कानपुर के 12, औरैया के 6 और कन्नौज व इटावा के एक-एक रोगी थे। इन सभी की दूसरी की रिपोर्ट निगेटिव आई थी। हालांकि, तीसरी जांच के लिए भी सैंपल भेजा गया था। लेकिन इसके परिणाम का इंतजार किए बगैर 20 को डिस्चार्ज कर दिया गया। 

स्वास्थ्य विभाग ने संक्रमित छात्र को फिर से भर्ती कराया
मंगलवार शाम जब तीसरी रिपोर्ट स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के हाथ में आई तो सभी हैरान रह गए। उसमें से एक मदरसा छात्र की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई। सीएमओ की टीम मदरसा पहुंची और छात्र को दोबारा लाकर आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया। जानकारी के मुताबिक छात्र की तबियत भी बिगड़ गई थी। सीएमओ अशोक शुक्ला ने कहा- यह चूक कैसे हुई? इसकी जांच कराई जाएगी। छात्र को दोबारा सीएचसी में भर्ती कराया गया है। 

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

मनाली: जा नहीं सकते फिर भी महसूस कर सकते है खूबसूरत मनाली को |

Pine forest with rocks. Manali, Himachal Pradesh India Manali-Leh highway in Himalayas with buses. Ladakh, India

कनिका कपूर ने पुलिस को दर्ज कराया अपना बयान; खुद को बताया निर्दोष

कनिका को दिए गए नोटिस में 30 अप्रैल 11 बजे तक बयान दर्ज कराने का  समय दिया गया था इन दिनों लखनऊ में...

मुख्यमंत्री योगी बोले- कोरोना वॉरियर्स पर हमला अक्षम्य अपराध, ऐसा करने वालों को होगी सात साल की जेल, लगेगा 5 लाख का जुर्माना

सीएम ने कहा- अपनी जान हथेली पर रखकर काम कर रहे कोरोना वॉरियर्स ऐसे में कुछ मुट्ठी भर लोग बन रहे कोरोना कैरियर,...

ग्रामीणों ने क्वारैंटाइन सेंटर बनाने का किया विरोध, बदसलूकी के बाद कोरोना वॉरियर्स पर किया पथराव; एक हिरासत में

भदोखर थाना क्षेत्र का मामला, ग्रामीणों ने कोरोना के डर से सेंटर बनाए जाने का किया विरोध मौके पर फोर्स तैनात, आरोपियों के...

Recent Comments